Khushbu Jaise Log Lyrics | Pratibha Singh Baghel

Khushbu Jaise Log Lyrics | Pratibha Singh Baghel

Khushbu Jaise Log Song Credits

Song Title – Khushbu Jaise Log
Album – Bole Naina
Director – Ravi Jadhav
Starring – Pratibha Singh Baghel
Music – Deepak Pandit
Singer – Pratibha Singh Baghel
Lyricist – Gulzar Sahab
Music Label – Sufiscore

Khushbu Jaise Log Song Lyrics in English

Khushbu jaise log mile afsaane mein

Khushbu jaise log mile afsaane mein

Ek purana khat khola anjaane mein

Anjaane mein

Khushbu jaise log mile afsaane mein

Jaane kiska zikr hai iss afsaane mein

Jaane kiska zikr hai iss afsaane mein

Jaane kiska zikr hai iss afsaane mein

Dard maze leta hai jo dohrane mein

Dard maze leta hai jo dohrane mein

Ek purana khat khola anjaane mein

Anjaane mein

Khushbu jaise log mile afsaane mein

Dil par dastak dene ko aa nikla hai

Dil par dastak dene ko aa nikla hai

Kiski aahat sunta hoon viraane mein

Kiski aahat sunta hoon viraane mein

Ek purana khat khola anjaane mein

Anjaane mein

Khushbu jaise log mile afsaane mein

Hum iss mod se uthkar

Agle mod chale

Hum iss mod se uthkar

Agle mod chale

Unko shayad der lagegi

Aane mein

Hum iss mod se uthkar

Agle mod chale

Hum iss mod se uthkar

Agle mod chale

Hum iss mod se uthkar

Agle mod chale

Unko shayad umr lagegi

Aane mein

Unko shayad umr lagegi

Aane mein

Ek purana khat khola anjaane mein

Anjaane mein

Khushbu jaise log mile afsaane mein

Khushbu Jaise Log Song Lyrics in Hindi

खुशबू जैसे लोग मिले अफ़साने में

खुशबू जैसे लोग मिले अफ़साने में

एक पुराना खत खोला अनजाने में

अनजाने में

खुशबू जैसे लोग मिले अफ़साने में

जाने किसका ज़िक्र है इस अफ़साने में

जाने किसका ज़िक्र है इस अफ़साने में

जाने किसका ज़िक्र है इस अफ़साने में

दर्द मज़े लेता है जो दोहराने में

दर्द मज़े लेता है जो दोहराने में

एक पुराना खत खोला अनजाने में

अनजाने में

खुशबू जैसे लोग मिले अफ़साने में

दिल पर दस्तक देने को आ निकला है

दिल पर दस्तक देने को आ निकला है

किसकी आहट सुनता हूँ वीराने में

किसकी आहट सुनता हूँ वीराने में

एक पुराना खत खोला अनजाने में

अनजाने में

खुशबू जैसे लोग मिले अफ़साने में

हम इस मोड़ से उठकर

अगले मोड़ चले

हम इस मोड़ से उठकर

अगले मोड़ चले

उनको शायद देर लगेगी

आने में

हम इस मोड़ से उठकर

अगले मोड़ चले

हम इस मोड़ से उठकर

अगले मोड़ चले

उनको शायद देर लगेगी

आने में

उनको शायद उम्र लगेगी

आने में

उनको शायद उम्र लगेगी

आने में

एक पुराना खत खोला अनजाने में

अनजाने में

खुशबू जैसे लोग मिले अफ़साने में

Khushbu Jaise Log Lyrics | Pratibha Singh Baghel

Leave a Comment

close