Paas Bulati Hai Lyrics in Hindi & English – Jaanwar Movie Song

Paas Bulati Hai Lyrics

Paas Bulati Hai Lyrics from Bollywood movie ‘Jaanwar‘. Paas Bulati Hai Song lyrics penned by Sameer, music composed by Anand-Milind, and sung by Alka Yagnik & Sunidhi Chauhan.

पास बुलाती है Song Credits

Jaanwar Movie Released Date – 24 December 1999
Director Suneel Darshan
Producer Suneel Darshan
Singers Alka Yagnik & Sunidhi Chauhan
Music Anand Milind
Lyrics Sameer
Star Cast Akshay Kumar, Karisma Kapoor, Shilpa Shetty
Music Label ©

Paas Bulati Hai Lyrics in English

Maa Oo Maa… Maa Oo Maa
Maa Oo Maa… Maa Oo Maa

Paas Bulaati Hai… Kitna Rulaati Hai
Paas Bulaati Hai… Kitna Rulaati Hai
Yaad Tumhaari Jab Jab Mujhko Aati Hai
Aati Hai..!!

Paas Bulaati Hai… Kitna Rulaati Hai
Paas Bulaati Hai… Kitna Rulaati Hai
Yaad Tumhaari Jab Jab Mujhko Aati Hai
Aati Hai..!!!

Jinke Sar Pe Mamta Ki Duaayein Hain
Kismat Vaale Vo Hain Jinki Maaein Hain
Jinke Sar Pe Mamta Ki Duaayein Hain
Kismat Vaale Vo Hain Jinki Maaein Hain

Jism To Hota Hai… Par Jaan Nahin Hoti
Unse Poochho Jinki… Maa Nahin Hoti
Lori Sunaati Hai… Chhupke Sulaati Hai
Lori Sunaati Hai… Chhupke Sulaati Hai
Yaad Tumhaari Jab Jab Mujhko
Aati Hai… Aati Hai

Aaja Seene Se Tujhko… Lagaa Loon Main
Cheer Ke Dil Ko Dhadakan Main
Chhupa Loon Main

Aaja Seene Se Tujhko Lagaa Loon Main
Cheer Ke Dil Ko Dhadakan Main
Chhupa Loon Main

Saavan Van Ban Ke
Meri Aankhen Barsi Hain
Tere Liye Kitna… Ye Pal Pal Tarsi Hain
Kitna Sataati Hai… Jaan Le Jaati Hai
Kitna Sataati Hai… Jaan Le Jaati Hai
Yaad Tumhaari Jab Jab Mujhko
Aati Hai… Aati Hai
AaAa Aa AaAa AaaAa Aa Aa AaAaAa

Source – Shemaroo Filmi Gaane


Paas Bulati Hai Lyrics in Hindi

माँ ओ माँ… माँ ओ माँ
माँ ओ माँ… माँ ओ माँ

पास बुलाती है कितना रुलाती है
पास बुलाती है कितना रुलाती है
याद तुम्हारी जब जब मुझको
आती है… आती है

पास बुलाती है इतना रुलाती है
पास बुलाती है इतना रुलाती है
याद तुम्हारी जब जब मुझको
आती है… आती है

जिनके सर पे ममता की दुआएं हैं
किस्मत वाले वो हैं जिनकी मांएं हैं
जिनके सर पे ममता की दुआएं हैं
किस्मत वाले वो हैं जिनकी मांएं हैं

जिस्म तो होता है पर जान नहीं होती
उनसे पूछो जिनकी माँ नहीं होती
लोरी सुनाती है छुपके सुलाती है
लोरी सुनाती है छुपके सुलाती है
याद तुम्हारी जब जब मुझको
आती है… आती है

आजा सीने से तुझको लगा लूँ मैं
चीर के दिल को धड़कन में छुपा लूँ मैं
आजा सीने से तुझको लगा लूँ मैं
चीर के दिल को धड़कन में छुपा लूँ मैं

सावन वन बन के मेरी आँखें बरसी हैं
तेरे लिये कितना ये पल पल तरसी हैं
कितना सताती है जां ले जाती है
कितना सताती है जां ले जाती है
याद तुम्हारी जब जब मुझको
आती है… आती है

आआ आ आ आआआ आआ
आ आआ आआ आआआ आआ

Leave a Comment