Pagalpan Lyrics – JalRaj

आँखों के ख्वाबों में
तुम ही नज़र आ रहे हो जाने क्यूँ
धड़कन की धक धक भी
तुम ही सुने जा रहे हो जाने क्यूँ

आधी अधूरी जो बातें तेरी है
वो पूरी लगे क्यूँ
दिल की तसल्ली और अलफाज
मेरे अधूरे लगे क्यूँ

रोक दूँ वक़्त को एक जगह
थाम लूँ बारिशें मैं बेवजह

ये पागलपन है गर कोई
तो हम पागल सही
तुम्हें चाहना है पागलपन
तो हम पागल सही

ये पागलपन है गर कोई
तो हम पागल सही
तुम्हें चाहना है पागलपन
तो हम पागल सही

केह रहा दिल
जो तू सुन ना सके
सुन रहा दिल
जो भी तू ना कहे

केह रहा दिल
जो तू सुन ना सके
सुन रहा दिल
जो भी तू ना कहे

जानता है
सच कहीं ना कहीं
नासमझ ये मानता भी नहीं

रोक दूँ वक़्त को किसी तरह
थाम लूँ बारिशें मैं बेवजह

ये पागलपन है गर कोई
तो हम पागल सही
तुम्हें चाहना है पागलपन
तो हम पागल सही

ये पागलपन है गर कोई
तो हम पागल सही
तुम्हें चाहना है पागलपन
तो हम पागल सही.

Aankhon ke khwabon mein
Tum hi nazar aa rahe ho jaane kyun
Dhadkan ki dhak dhak bhi
Tum hi sune jaa rahe ho jaane kyun

Aadhi adhuri jo baatein teri hain
Woh poori lage kyun
Dil ki tasalli aur alfaaz
Mere adhure lage kyun

Rok doon waqt ko ek jagah
Thaam loon baarishein main bewajah

Ye pagalpan hai gar koi
To hum pagal sahi
Tumhe chahna hai pagalpan
To hum pagal sahi

Ye pagalpan hai gar koi
To hum pagal sahi
Tumhe chahna hai pagalpan
To hum pagal sahi

Keh raha dil
Jo tu sun na sake
Sun raha dil
Jo bhi tu na kahe

Keh raha dil
Jo tu sun na sake
Sun raha dil
Jo bhi tu na kahe

Jaanta hai
Sach kahin na kahin
Nasamajh yeh maanta bhi nahi

Rok doon waqt ko kisi tarah
Thaam loon baarishein main bewajah

Ye pagalpan hai gar koi
To hum pagal sahi
Tumhe chahna hai pagalpan
To hum pagal sahi

Ye pagalpan hai gar koi
To hum pagal sahi
Tumhe chahna hai pagalpan
To hum pagal sahi.

Source link

Leave a Comment

close