प्रेम रतन धन पायो Prem Ratan Dhan Payo Lyrics in Hindi – Palak Muchhal

Prem Ratan Dhan Payo Lyrics in Hindi

सुख दुख झूठे धन भी झूठा
झूठी मोह माया
सच्चा मन का वो कोना जहाँ
प्रेम रतन पाया प्रेम रतन पाया

नि नि नि सा सा सा
रे रे रे सा सा सा सा
नि नि नि सा सा सा
रे रे रे सा सा सा सा
नि नि नि सा सा सा
रे रे रे सा सा सा सा
नि नि नि सा सा सा
रे रे रे सा सा सा सा
नि नि नि सा सा सा
रे रे रे सा सा सा सा
नि नि नि सा सा सा
रे रे रे सा सा सा सा नी रे

हो सइयाँ तू कमाल का
बातें भी कमाल की
सइयाँ तू कमाल का
बातें भी कमाल की
लागा रंग जो तेरा
हुई मैं कमाल की

पायो रे पायो रे पायो रे
पायो रे पायो
पायो रे पायो रे पायो रे
पायो रे पायो
पायो रे पायो रे पायो रे
पायो रे पायो रे

प्रेम रतन धन पायो
प्रेम रतन धन पायो
रुत मिलन की लायो
प्रेम रतन…
प्रेम रतन धन पायो मैनें
प्रेम रतन धन पायो

क्या मैं दिखा दूं
या मैं छुपा लूं
जो धन है मन में
ये भी ना जानूँ
बजने लगी क्यूँ
सरगम सी तन में
ख़ुशियाँ हैं आँगन में

चेहरे पे आयी मेरी
रंगतें गुलाल की
लागा रंग जो तेरा
हुई मैं कमाल की

पायो रे पायो रे पायो रे
पायो रे पायो
पायो रे पायो रे पायो रे
पायो रे पायो
पायो रे पायो रे पायो रे
पायो रे पायो रे

प्रेम रतन धन पायो
प्रेम रतन धन पायो
मन गगन पर छायो
प्रेम रतन…
प्रेम रतन धन पायो मैनें
प्रेम रतन धन पायो

Leave a Comment

close