Rote Hue Aate Hai Sab Lyrics | Muqaddar Ka Sikandar

Rote Hue Aate Hai Sab Song Credits

Song Title – Rote Hue Aate Hai Sab
Movie – Muqaddar Ka Sikandar (1978)
Director – Prakash Mehra
Starring – Amitabh Bachchan, Raakhee, Vinod Khanna, Rekha, Shriram Lagoo, Amjad Khan, Kader Khan, Mayur Raj Verma, Ranjeet, Nirupa Roy, Ram Sethi, Yusuf Khan
Music – Kalyanji-Anandji
Singer – Kishore Kumar
Lyricist – Anjaan
Music Label – Saregama India Limited

Rote Hue Aate Hai Sab Song Lyrics in English

$ads={1}

Rote huye aate hain sab

Rote huye aate hain sab

Hasta hua jo jayega

Woh muqaddar ka sikandar

Woh muqaddar ka sikandar

Jaan-e-mann keh layega

Rote huye aate hain sab

Rote huye aate hain sab

Hasta hua jo jayega

Woh sikandar kya tha

Jisne zulm se jeeta jahan

Woh sikandar kya tha

Jisne zulm se jeeta jahan

Pyar se jeete dilon ko

Woh zuka de aasman

Jo sitaaron par kahani

Pyar ki likh jayega

Woh muqaddar ka sikandar

Woh muqaddar ka sikandar

Jaan-e-mann keh layega

Rote huye aate hain sab

Hasta hua jo jayega

Zindagi to bewafa hai

Ek din thukrayegi

Zindagi to bewafa hai

Ek din thukrayegi

Maut mehboba hai

Apne saath lekar jayegi

Mar ke jeene ki adaa jo

Duniya ko sikhlayega

Woh muqaddar ka sikandar

Woh muqaddar ka sikandar

Jaan-e-mann keh layega

Rote huye aate hain sab

Hasta hua jo jayega

Humne maana yeh zamana 

Dard ki jaagir hai

Humne maana yeh zamana 

Dard ki jaagir hai

Har kadam pe aansuon ki 

Ik nayi janjir hai

Saaz-e-gham par jo khushi ke 

Geet gaata jayega

Woh muqaddar ka sikandar

Woh muqaddar ka sikandar

Jaan-e-mann keh layega

Rote huye aate hain sab

Hasta hua jo jayega

Woh muqaddar ka sikandar

Woh muqaddar ka sikandar

Jaan-e-mann keh layega

Jaan-e-mann keh layega

Jaan-e-mann keh layega

Rote Hue Aate Hai Sab Song Lyrics in Hindi

$ads={2}

रोते हुए आते हैं सब

रोते हुए आते हैं सब

हँसता हुआ जो जाएगा

वो मुकद्दर का सिकंदर

वो मुकद्दर का सिकंदर

जाना-ए-मन कहलाएगा

रोते हुए आते हैं सब

रोते हुए आते हैं सब

हसता हुआ जो जाएगा

वो सिकंदर क्या था

जिसने जुल्म से जीता जहाँ 

वो सिकंदर क्या था

जिसने जुल्म से जीता जहाँ

प्यार से जीते दिलों को

वो झुका दे आसमां

जो सीतारों पर कहानी

प्यार की लिख जाएगा

वो मुकद्दर का सिकंदर

वो मुकद्दर का सिकंदर

जाना-ए-मन कहलाएगा

रोते हुए आते हैं सब

हँसता हुआ जो जाएगा

जिंदगी तो बेवफा है

एक दिन ठुकराएगी

जिंदगी तो बेवफा है

एक दिन ठुकराएगी

मौत महबूबा है

अपने साथ लेकर जाएगी

मर के जीने की अदा जो

दुनिया को सिखलाएगा

वो मुकद्दर का सिकंदर

वो मुकद्दर का सिकंदर

जाना-ए-मन कहलाएगा

रोते हुए आते हैं सब

हँसता हुआ जो जाएगा

हमने माना ये ज़माना 

दर्द की जागीर है

हमने माना ये ज़माना 

दर्द की जागीर है

हर कदम पे आँसुओ की 

इक नयी ज़ंजीर है

साज़-ए-ग़म पर जो ख़ुशी के 

गीत गाता जाएगा

वो मुकद्दर का सिकंदर

वो मुकद्दर का सिकंदर

जाना-ए-मन कहलाएगा

रोते हुए आते हैं सब

हँसता हुआ जो जाएगा

वो मुकद्दर का सिकंदर

वो मुकद्दर का सिकंदर

जाना-ए-मन कहलाएगा

जाना-ए-मन कहलाएगा

जाना-ए-मन कहलाएगा

Rote Hue Aate Hai Sab Video

Leave a Comment