Yaad Lyrics याद – Talha Anjum, Talhah Yunus, Asim Azhar

तू ये जाने तेरे आगे मजबूर हैं
किस बात का ग़ुरूर
फ़ायदा उठाई ये
कैसा ये सुरूर है

देता सदायें क्यूँ ना तुझको सुनाई दे
तेरा दीवाना पूरी दुनिया गवाही दे
मैं लापरवाह सर फिरा पर बेवफा नै
कब तक ये आशिक़ आखिर अपनी सफाई दे

तू हाँ कर कभी, मैं बदलू अभी
है मेरी मुसीबत ये तेरा ज़मीर
चेहरा असल तू अपना दिखायी जाये
क्यूँ फिर मुझको सतायी जाये

तेरी बस याद याद याद याद
आये मुझे बार बार बार बार
ये सोने ना दे जीने ना दे
और किसी का होने ना दे
तेरी बस याद याद याद याद

मैं बोला आई’म गोइंग होम बट
असल में आई’म गोइंग क्रेजी
डबल ब्लैक फॉर थे पैं
रोली रोली गॉट मी फैडड
यू प्लेड मी हाँ ठीक है
आई’विल बी ओवर यू बाय डी वीकेंड
बीन इन द गेम फॉर 10
कल्ला मेरे दिल के कितनी क़रीब है

गुज़ारी है ग़ुरबत में रातें
किताबो में मिलनी नै बातें
आने वाले आते होंगे
मुझे उनकी फ़िक्र है जो नहीं आते

तेरे बिन ईद नै ईद
चेहरा नै काबिल इ दीद
चेहरे पे फ़िक्र है वाजेह
तू चेहरे को पढ़ना तो सीख

तू मुझको रास्ते दे
मैं तुझको बदले में फासले दूँ
तू मुझको आसरे दे
मैं दिल की तिजोरी से राज़ एक दूँ
चाहे फिर सांस ना लें
तेरे दीदार और मौत क़ुबूल
करू क़ुर्बान तुझपे ये ज़िन्दगी तो
होगी हर सांस वसूल

मैं बदलू तो बनु फिर क्या क्या
के तू मेरा हो के भी ना
गोट एवरीथिंग दैट आई नीड़
गिव यू एनीथिंग दैट यू वांट
ये आई स्मोक ट्रीज राइट सॉन्ग्स
तेरी सोच ऑल नाईट लॉन्ग
आई कुड राइट ऑल माय रोंगस
बट यू’आर गॉन एंड

तू हाँ कर कभी, मैं बदलू अभी
है मेरी मुसीबत ये तेरा ज़मीर
चेहरा असल तू अपना दिखायी जाये
क्यूँ फिर मुझको सतायी जाये

तेरी बस याद याद याद याद
आये मुझे बार बार बार बार
ये सोने ना दे जीने ना दे
और किसी का होने ना दे
तेरी बस याद याद याद याद

रात ये सोने के लिये
मगर हम सोये नहीं
करवटें बदलते रेहते
सोचूं मैं हम खोये रहे

यादों के बस्ते लिये
आँखों को भिगोएं नई
खुद पे ये फखर
वो मेरे जाने पे रोये नई

यार दीवार बने
रिश्तों में दरार डले
गुज़रे कई साल बड़े
गमो के पहाड़ बने

सब की ज़बान बने
दिल ये मजार बने
आना दरबार मेरे
लिख रहे रात के चार बजे

लफ़्ज़ों के ताजिर हम हिजरत
ओ हिज्र के आदि बरसा दें ये बादल
ज़माने से पूछो हम कितने बहादुर
वो आज भी समझें हमें पागल

खुद ढूंढने जवाब
क्यूँ पुछु सवाल मेरी क्या मजाल
वेह्मो गुमान
क्या दूँ मैं मिसाल तू है बेमिसाल
हर बस्ती उजागर
हम सब के मुसाफिर सफर भी मुतासिर
मैं उर्दू का रकम नज़र बड़ी कातिल
हसल मेरी वजेह गवाह मेरा असीम
मैं दुनिया से अजीज़ लिख रहा तेरी खातिर

रातें ये ढलती नहीं
वक़्त की तरह क्यूँ बदलती रही
मानेंगी वो अपनी ग़लती नहीं
मैं आज भी वोही कोई जल्दी नहीं

तेरी बस याद याद याद याद
आये मुझे बार बार बार बार
ये सोने ना दे जीने ना दे
और किसी का होने ना दे
तेरी बस याद याद याद याद
तेरी बस याद याद याद याद.

Tu yeh jaane tere aage majboor hain
Kis baat ka ghuroor
Faida uthai ye
Kaisa ye suroor hai

Deta sadayen kyun na tujhko sunai de
Tera deewana puri duniya gawahi de
Main laparwah sar phira par bewafaa nai
Kab tak ye ashiq aakhir apni safai de

Tu haan kar kabhi, main badlu abhi
Hai meri museebat ye tera zameer
Chehra asal tu apna dikhai jaye
Kyun phir mujhko satayi jaye

Teri bas yaad yaad yaad yaad
Aaye mujhe baar baar baar baar
Ye sone na de jeene na de
Aur kisi ka hone na de
Teri bas yaad yaad yaad yaad

Main bola i’m going home but
Asal mein i’m going crazy
Double black for the pain
Rollie rollie got me faded
You played me haan theek hai
I’ll be over you by the weekend
Been in the game for 10
Kalla mere dil ke kitni kareeb hai

Guzaari hai gurbat mein raatein
Kitaabo mein milni nai baatein
Aane wale aate honge
Mujhe unki fikar hai jo nahi aate

Tere bin eid nai eid
Chehra nai kaabil e deed
Chehre pe fikar hai wajeh
Tu chehre ko padhna toh seekh

Tu mujhko raaste de
Main tujhko badle mein faasle doon
Tu mujhko aasre de
Main dil ki tijori se raaz ek doon
Chahe phir saans na le
Tere deedar aur maut qubool
Karu qurban tujhpe ye zindagi toh
Hogi har saans wasool

Main badlu toh banu phir kya kya
Ke tu mera ho ke bhi na
Got everything that i need
Give you anything that you want
Yeah i smoke trees write songs
Teri soch all night long
I could right all my wrongs
But you’re gone and

Tu haan kar kabhi, main badlu abhi
Hai meri museebat ye tera zameer
Chehra asal tu apna dikhai jaye
Kyun phir mujhko satayi jaye

Teri bas yaad yaad yaad yaad
Aaye mujhe baar baar baarbaar
Ye sone na de jeene na de
Aur kisi ka hone na de
Teri bas yaad yaad yaad yaad

Raat yeh sone ke liye
Magar hum soye nahi
Karvaten badalte rehte
Sochon main hum khoye rahe

Yaadon ke bastay liye
Ankhon ko bhigoyen nai
Khud pe ye fakhar
Woh mere jaane pe roye nai
Yaar deewaar bane
Rishton mein daraar dale
Guzre kai saal bade
Ghum on ke parhad bane

Sab ki zabaan bane
Dil ye mazar bane
Aa na darbaar mere
Likh rahe raat ke chaar baje

Lafzon ke taajir hum hijrat
O hijr ke aadi barsa den ye baadal
Zamane se pucho hum kitane bahadur
Woh aaj bhi samjhen humein pagal

Khud dhundhne jawaab
Kyun puchu sawaal meri kya majaal
Vehmo gumaan
Kya doon main misaal tu hai bemisal
Har basti ujagar
Hum sab ke musafir safar bhi mutasir
Main urdu ka rakim nazar badi katil
Hustle meri wazeh gawah mera asim
Main duniya se ajiz likh raha teri khaatir

Raaten ye dhalti nahi
Waqt ki tarah kyun badalti rahi
Manengi woh apni ghalti nahi
Main aaj bhi wohi koi jaldi nahi

Teri bas yaad yaad yaad yaad
Aaye mujhe baar baar baar baar
Ye sone na de jeene na de
Aur kisi ka hone na de
Teri bas yaad yaad yaad yaad
Teri bas yaad yaad yaad yaad.

Leave a Comment