Zara Zara Lyrics जरा जरा – Shany Haider, Kinza Hashmi – Kashmir Beats (Season 1)

ओ तेरे वादियाँ नु रखिया सी मैं सोणी
गल दा हार बनाके
तू नहीं आई उस श्याम ओ सोणी
मैनु पार बुला के

जो भी किया उसे तू भूल जा
रख ले मुझे तू याद बस थोड़ा सा
ज़रा ज़रा ज़रा ज़रा
ज़रा ज़रा ज़रा ज़रा

अब भी साँसों में है हम कहीं या नहीं
मुझको तू बता दे हूँ कहीं के नहीं
चल प्यार को भुला दे
कुछ साथ तो निभा दे
मेरी थोड़ी थोड़ी यादें रख ले

ज़रा ज़रा ज़रा ज़रा
ज़रा ज़रा ज़रा ज़रा
ज़रा ज़रा ज़रा ज़रा ज़रा
ज़रा ज़रा ज़रा ज़रा ज़रा

ओ तेरे वादियाँ नु रखिया सी मैं सोणी
गल दा हार बनाके
तू नहीं आई उस श्याम ओ सोणी
मैनु पार बुला के

जाते जाते बस इक फर्ज़ निभा दे
तुझको जो दिया था वो कर्ज़ लौटा दे
ग़म तो नहीं अब तेरे हम तो नहीं

दिये जो है तूने मुझको वो दो पल
रेह लेंगे उसको बना के अपना कल
ग़म तो नहीं पर होगे तुम तो नहीं

कुछ बात तो बता दे
चल हाथ तो मिला दे
अपनी थोड़ी सी तो आँखें भर ले
जरा जरा जरा जरा
जरा जरा जरा जरा जरा

ओ तेरे वादियाँ नु रखिया सी मैं सोणी
गल दा हार बनाके
तू नहीं आई उस श्याम ओ सोणी
मैनु पार बुला के

मुझे अपना एक राज़ बना ले
फुर्सत का मुझे साज बना ले
गम तो नहीं अब तेरे हम तो नहीं

पूरे नहीं थोड़े से तो ख्वाब दिखा दे
प्यार नहीं तो बस आस दिला दे
ग़म तो नहीं अब तेरे हम तो नहीं

चल प्यार को भुला दे
कुछ साथ तो निभा दे
मेरे थोड़ी थोड़ी यादें रख ले

जरा जरा…जरा जरा
जरा जरा जरा जरा

हो तेरे वादियाँ नु रखियाँ सी मैं राँझना
दिल दा हार बना के
तू नहीं आया उस श्याम ओ राँझे
मैंनु पार बुला के
पार बुला के, पार बुला के
पार बुला के, पार बुला के.

O tere vaadiyan nu rakhiyan si main soni
Gal da haar banake
Tu nahi ayi us shyam oh soni
Mainu paar bula ke

Jo bhi kiya use tu bhul ja
Rakh le mujhe tu yaad bas thoda sa
Zara zara zara zara
Zara zara zara zara

Ab bhi saanson mein hai Hum kahin ya nahi
Mujhko tu bata de Hoon kahin ke nahi
Chal pyar ko bhula de
Kuch saath to nibha de chal haa to mila de
meri thodi thodi yaadein rakh le

Zara zara zara zara
Zara zara zara zara
Zara zara zara zara zara
Zara zara zara zara zara

O tere vaadiyan nu rakhiyan si main soni
Gal da haar banake
Tu nahin ayi us shyam oh soni
Mainu paar bula ke

Jaate jaate bus ik farz nibha de
Tujhko jo diya tha woh karz lauta de
Gham to nahi ab tere hum to nahi

Diye jo hai tune mujhko woh do pal
Reh lenge usko bana ke apna kal
Ghum to nahi par hoge tum to nahi

Kuch baat to bata de
chal hath to mila de
Apni thodi si to ankhen bhar le
Zara zara zara zara
Zara zara zara zara zara

O tere vaadiyan nu rakhiyan si main soni
Gal da haar banake
Tu nahin ayi us shyam oh soni
Mainu paar bula ke

Mujhe apna ek raaz banale
Fursat ka mujhe saaj banale
Ghum to nahi ab tere hum to nahi

poore nahi thode se tu khawab dikha de
Pyar nahi to bus aas dila de
Ghum to nahi ab tere hum to nahi

Chal pyar ko bhula de
Kuch saath toh nibha de
Mere thodi thodi yaadein rakh le

Zara zara zara zara
Zara zara zara zara

Ho tere vaadiyan nu
rakhiyan si main raanjhana
Dil da haar bana ke
Tu nahi aaya us shyam oh raanjhe
Mainu paar bula ke
Paar bula ke, paar bula ke
Paar bula ke, paar bula ke.

Source link

Leave a Comment

close