Zid Hai Lyrics- Diptarka Bose – Jeet Ki Zid

ऐ ऐ
गिरा उठा चला लड़खड़ाया
मैं मौत को धता बता के आया
मैं लाँग गया सात आसमान
मरोड़ आया सूरज का कान

मेरा गुरूर नहीं ये मेरी ज़िद है
ये हद में नहीं ये बेहद है
मेरा गुरूर नहीं ये मेरी ज़िद है
ये मेरी ज़िद है
ज़िद है

I am a worriar,
Gone a conqurate all like solder
Gone a battlet all like super
I am a got dam bluddy yet

मैं हु अश्वत्थामा,
मैं मरूँगा मारने से
हूँ अमर अजर
तू काट मेरा सर
मैं रक्तबीज हूँ
लहू के खून से
उगेंगे सौ सौ सर
इधर उधर

I am a worriar,
Gone a conqurate all like a solder
Gone a battlet all like super
I am a got dam bluddy yet

नीलकंठ हूँ, जेहेर पी के आया
मैं गट गट हलाहल पचाया
नीलकंठ हूँ, जेहेर पी के आया
मैं गट गट हलाहल पचाया
मैं तोड़ आया अमृत का धुआँ
मैं ऐरा गेरा मुजकों हो जाय

मेरा गुरूर नहीं ये मेरी ज़िद है
ये हद में नहीं ये बेहद है
मेरा गुरूर नहीं ये मेरी ज़िद है
ये मेरी ज़िद है
ज़िद है.

Aey aey
Gira utha chala ladkhadaya
Main maut ko dhata bata ke aaya
Main laang gaya saat aasmaan
Marod aaya sooraj ka kaan

Mera guroor nahi ye meri zid hai
Ye hadh mein nahi ye beyhadh hai
Mera guroor nahi ye meri zid hai
Ye meri zid hai
Zid hai

I am a worriar,
Gone a conqurate all like solder
Gone a battlet all like super
I am a got dam bluddy yet

Main hoon aswathama,
Main marunga marne se
Main hoon amar ajay,
Tu kaat mera sar
Main rakhtbeej hoon
Lahu ke khoon se
Ugenge sau sau sar
Idhar udhar

I am a worriar,
Gone a conqurate all like a solder
Gone a battlet all like super
I am a got dam bluddy yet

Nilkanth hoon, zeher pee ke aaya,
Maine gat gat halahal pachaya
Nilkanth hoon, zeher pee ke aaya
Maine gat gat halahal pachaya
Main tod aaya amrit ka dhuaan
Main aira gera mujhko ho jay

Mera guroor nahi ye meri zid hai
Ye hadh mein nahi ye beyhadh hai
Mera guroor nahi ye meri zid hai
Ye meri zid hai
Zid hai.

Source link

Leave a Comment

close